Cookies क्या होती है और Cookies के लाभ और हानियां क्या है ? - Techig.in

Cookies क्या होती है और Cookies के लाभ और हानियां क्या है ?

Cookies क्या होती है और Cookies के लाभ और हानियां क्या है ?

What are cookies and what are the advantages and disadvantages of cookies?

Hye Friends, स्वागत है हमारी इस जानकारी के अंदर। Friends,क्या आप जानते हो कि kookies क्या होती है? कई व्यक्ति सोच रहे होंगे कि हम खाने वाली kookies की के बारे में तो नहीं बोल रहे परंतु दोस्तों तो ऐसा नहीं है हम आपसे Internet की कुकीज़ के बारे में पूछ रहे हैं। आपने कई बार इनके बारे में सुना होगा और इनका Name भी पढ़ा होगा। किंतु कुकीज़ के बारे में कम ही लोगों को knowledge है। cookies क्या होती है, कुकीज़ किस काम में आती है, kookies आपको किस तरह हानि पहुँचाती हैं ये सारी knowledge आप इस article में पढ़ेंगे।

What is Cookies-

Friends,आपको बता दें कि Kookies एक तरह की text File होती है जो आपके laptop,computer, PC,mobile or tablet,में किसी वेबसाइट को खोलने पर अपने आप बन जाती है। इन File में वो full data होता है जो आपने उस Website पर खोज किया है। अर्थात की आपके keyword से लेकर आपके पासवर्ड तक सारी knowledge इन कुकीज़ फ़ाइल (Cookies file) में होती है। कई बार आप जब computer पर इंटरनेट चलते हैं तो Browser के इतिहास को डिलीट करते हैं उसमें भी आपसे पूछा जाता है की क्या आपको Kookies File Delete करनी है। friends,यदि आप ये delete कर देते हैं तो आपके browser की वजह से बढ़ने वाली जगह कम हो जाती है।

Friends,जिस तरह computer के browser में कुकीज़ काम करती है ठीक उसी तरह हमारे mobile में भी browser होता है और उस पर हम कई चीजें खोज करते हैं। उन खोज की सारी इंफॉर्मेशन इन कुकीज़ में आ जाती है। इसे भी हम ब्राउज़र से delete कर सकते हैं।

Types of cookies

Friends, Cookies चार तरह की होती है-

  • Session Cookies

  • Persistent Cookies

  • Secure Cookies

  • HTTP Only Cookies

क्या आपको पता है Cookies का क्या काम है?

Friends,Kookies का काम समझने से पहले हम ये समझते हैं की internet किस तरह काम करता है‌। Friends,आपने देखा होगा की आप जब भी internet पर कोई keyword डालते हैं या फिर किसी और चीज के बारे में सर्च करते हैं तो पहले तो वो रिजल्ट बता देता है किंतु इसके बाद आप किसी दूसरी ऐप पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो आपको उस सर्च से संबंधित एडवर्टाइजमेंट (विज्ञापन) Ads दिखाये जाते हैं Friends,ये सब HTTP Cookies के कारण होता है।

दोस्तों अब हम ये जानते हैं कि kookies कैसे work करती है। अब suppose that आज आपने अपने मोबाइल के chorme browser में rolex watch सर्च की. अब आप उसे देखने के लिए जिस भी WEBSITE पर जाएंगे या जितनी भी जगह जाएंगे उस पूरे डाटा की एक फ़ाइल बन जाएगी जिसे KOOKIES FILE कहते हैं।

कुकीज़ फ़ाइल में आपका सारा Data होगा की आपने rolex watch सर्च की। अब आप कल्पना कीजिए कि फेसबुक या फिर youtube चलाते हैं तो वहाँ पर भी आपको rolex watch से संबंधित एडवर्टाइजमेंट दिखाये जाएंगे जो आपको किसी ऐसी वेबसाइट पर ले जाएंगे जो rolex वॉच बेचती हो।

ACTUALLY, KOOKIES एक ऐसी FILE के रूप में काम करती है जो GOOGLE को ये बताती है की आपका (दिलचस्पी) रुचि किस चीज में है। इसके बाद गूगल अपने विज्ञापन देने वालों की मांग के हिसाब से आप तक उनकी website का advertisement पहुँचाता है और इन्हीं विज्ञापन पर हम अक्सर Click करके अपनी पसंद की चीज देख लेते हैं।

कुकीज़ से क्या लाभ होते है-

Friends, Kookies से तीन तरह के लोगों को लाभ होता है। पहला लाभ तो हमे खुद को होता है। दरअसल जब भी हम कोई website खोलते हैं तो Kookies के रूप में सारा डाटा एक File में Save हो जाता है। पहली बार वो वेबसाइट खुलने में भी समय लेती है क्योंकि उसे सारा DATA पूरी तरह Load करना होता है किंतु हम जब वापस से बाद में उसे ओपन करते हैं तो वो पहले के मुक़ाबले फास्ट Load हो जाती है क्योंकि उसकी File हमारे पास कुकीज़ के रूप में सेव हो जाती है. इससे हमारे DATA की बचत हो जाती है।

दूसरा लाभ होता है ई कॉमर्स व्यवसाय को जो ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचती है। जब हम किसी प्रॉडक्ट के बारे में खोज करते हैं तो kookies के रूप में हमारी फ़ाइल सेव हो जाती है जिससे इन्हें हमारी रुचि पता चल जाती है और इनके advertisement हमारी स्क्रीन पर आना शुरू हो जाते हैं। वैसे ये भी लाभकारी है क्योंकि इससे हमे अच्छे-अच्छे Offers मिल जाते हैं।

तीसरा लाभ यह होता है Google को Google खुद ही लोगों ke advertisement हमारी स्क्रीन तक पहुचाता है। ऐसे में Google को भी आवश्यकता होती है की वो सही विज्ञापन सही Person तक पहुचाए।Google Cookies के माध्यम से ये मालूम होता है कि आज आपकी रूचि किस चीज में है बस उसी से RELATED ADVERTISEMENT वो आपको बताने लगता है। इससे GOOGLE का काम भी हो जाता है और आपको भी आपकी रुचि की चीजें मिलना स्टार्ट हो जाती है।

How to Delete Cookies?

Cookies delete करने के लिए आप जिस browser का उपयोग कर रहे हैं उसकी Setting में जाये। जैसे कल्पना कीजिए कि आप google chrome browser का इस्तेमाल कर रहे हैं। तो उसकी सेटिंग में जाए। Setting में नीचे आपको एडवांस विकल्प दिखेगा उस पर Click करें। इसके बाद Clear browsing data पर क्लिक करें। Friends,यहाँ पर आपको कई चीजें delete करने का विकल्प मिलेगा। आपको उनमें से Cookies and site data पर click करना है। अर्थात उसे चुनना है और फिर क्लियर डाटा पर क्लिक करें।

कुकीज़ के बारे में आप कई सारी बातें जान गए होंगे परंतु Friends, कुकीज़ के कुछ पहलू ऐसे हैं जो अभी भी आप नहीं जानते हैं. इनके बारे में जानना आवश्यक है।Cookies किसी browser के लिए होती है। Friends, यदि आप सोचते हैं की एक बार जो आपने chrome browser में खोज किया तो वो firefox ब्राउज़र में काम आ जाएगा तो मित्रों ऐसा नहीं होगा। आप chorme की कुकीज़ को सिर्फ chorme में ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

Download

कुकीज़ के रूप में सेव होने वाली file text होती है. ये ज्यादा हेवी नहीं होती है। लेकिन अगर आपको सालों हो गए है cookies file को डिलीट किए हुए तो कुकीज़ फ़ाइल को अवश्य delete कर दें। कुकीज़ फ़ाइल को टाइम टू टाइम पर डिलीट करना आवश्यक है नहीं तो ये आपकी रहस्यमई जानकारी को लीक कर सकते हैं।

Cookies डोमेन पर भी depend करती है क्योंकि एक Domain से लिया हुआ Data दूसरे domain के बारे में नहीं बता पाएगा‌। Cookies के File लगभग 4KB की होती है जो कि अलग-अलग browser में अलग अलग size की हो सकती है।

तो फ्रेंड्स यह छोटी सी जानकारी आपको कैसी लगी उम्मीद है यह जानकारी आप को अच्छी लगी होगी। दोस्तो इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ भी सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म facebook whatsapp, टेलीग्राम तथा अन्य सोशल मीडिया वेबसाइट पर भी शेयर करें।

Unique 100%

Leave a Comment