डोमेन अथॉरिटी क्या है? जानिए पूरी जानकारी के साथ 2021

29

डोमेन अथॉरिटी क्या है? जानिए पूरी जानकारी के साथ 2022

साथियों यदि आप लोग भी एक ब्लॉगर हो तो आपने कभी ना कभी तो डोमेन अथॉरिटी का नाम तो जरूर सुना होगा। और आप इसके बारे में बहुत कुछ जानते भी होंगे यह दोस्तों अभी तक आपने इसके बारे में सही से यह नहीं जान पाया है। डोमेन अथॉरिटी क्या है, और उसे कैसे बढ़ाया जा सकता है। एवं यह हमारी वेबसाइट की रैंकिंग के लिए कितना ज्यादा जरूरी होता है। इसी वजह से दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको डोमेन अथॉरिटी से संबंधित सभी प्रकार जानकारी स्टेप बाई स्टेप रूप में देने वाले हैं। यह तो पहले आपने इसका कभी नाम नहीं सुना हो तो मैं आपको बता दूं कि यह एक तरह से वेबसाइट का स्कोर होता है।

और वह किसी भी सर्च इंजन के अंदर यह दर्शाता है। कि किसी भी वेबसाइट की रैंक करने की छमता कितनी हो गई है। जिसकी डोमेन अथॉरिटी कम होगी तो उस वेबसाइट की रैंकिंग क्षमता भी कम ही होती है। अगर किसी वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी ज्यादा है। तो उस वेबसाइट की रैंकिंग क्षमता भी काफी अधिक होती है। मगर साथियों यह हर बार सही नहीं माना जाता है क्योंकि गूगल ने अपने रैंकिंग फैक्टर में डोमेन अथॉरिटी एवं पेज अथॉरिटी के बारे में बताया ही नहीं है। शायद आप लोग डोमेन अथॉरिटी के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहती हो तो पोस्ट में आगे तक बने रहे।

डोमेन अथॉरिटी क्या है ?

साथियों डोमेन अथॉरिटी एक ऐसी मैट्रिक्स होती है। जो यह बताने का काम करती है कि किसी भी वेबसाइट की सर्च इंजन के मुताबिक तो क्या वैल्यू होती है। डोमेन अथॉरिटी का साफ-साफ मतलब यही निकलता है कि किसी भी वेबसाइट की इज्जत. और किसी भी वेबसाइट की गूगल या फिर किसी भी सर्च इंजन की नजरों में वेबसाइट की क्या इज्जत होती है? तो डोमिनो अथॉरिटी के माध्यम से इसकी गणना होती है। एवं डोमेन अथॉरिटी की माप लोगरिथमिक स्केल पर करते हैं। एवं लोगरिथमिक स्केल इस प्रकार का स्केल होता है।

जिसके अंदर ज्यादा अंक लेने के लिए ज्यादा मेहनत की जरूरत होती है। और कमल को प्राप्त करने के लिए बहुत ही कम मेहनत करनी पड़ती है। जैसे कि मान लो स्कूल की परीक्षा में 1 से 20 नंबर लाना बहुत ही आसान होता है। बल्कि उसकी अपेक्षा 20 से 40 नंबर लेना उतना ही कठिन भी होता है। 40 से 60 या फिर 60 से ऊपर लाना तो मुश्किल ही मुश्किल होता है। और किसी भी अंक की इसी माप को लोगरिथमिक स्केल कहा जाता है। और इसी स्केल के मुताबिक किसी भी वेबसाइट को डोमेन अथॉरिटी के नंबर भी दिए जाते हैं।

डोमेन अथॉरिटी का निर्माण किसने किया है?

दोस्तों अपने डोमेन अथॉरिटी के बारे में तो जान लिया है अब इसके निर्माणकर्ता कौन है इसके बारे में भी जानना आपके लिए बेहद ज्यादा मायने रखता है जैसा कि मैं आपको शुरू में ही बता चुका हूं कि डोमेन अथॉरिटी का गूगल से कोई भी संबंध या फिर किसी भी प्रकार का लेना देना नहीं है और गूगल के 200 रैंकिंग फैक्टर में डोमेन अथॉरिटी के बारे में भी नहीं बताया है इसलिए अब हम जानेंगे कि डोमेन अथॉरिटी मैट्रिक्स का निर्माण किसने किया है यदि आप लोग इस बात से अनजान है।तो मैं आपको यहां पर बता दो कि डोमेन अथॉरिटी को इंटरनेट में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन की सबसे विशाल वेबसाइट मौज के द्वारा निर्माण किया है एवं मोज ने ही पेज अथॉरिटी की मैट्रिक्स का भी निर्माण किया है।

हाल ही में पहली 2019 की वर्ष में मौज ले डोमेन अथॉरिटी का एक नया अपडेट तैयार किया था और उसे domain authority 2.0 के नाम से जाना जाता है।आप इस बात से हैरान होंगे गूगल को इसके बारे में मालूम ही नहीं है। आखिरकार डोमन अथॉरिटी क्या चीज है?मगर किसी भी वेबसाइट को रैंक करवाने में यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि मौज की एल्गोरिदम के 40 फैक्टर होते हैं।जिसके मुताबिक वह किसी भी वेबसाइट की डोमेन अथॉरिटी की गढ़ना भी करते रहते हैं। और यह जितने भी फैक्टर होते हैं।सारे के सारे प्रोफाइल से संबंधित होते हैं।

डोमेन अथॉरिटी को कैसे बढ़ाया जाता है ?

मौज ने डोमेन अथॉरिटी को देने के लिए 40 फैक्टर का निर्माण किया है। और जिन के बारे में पूरी तरह से केवल मौज ही जानता है।मगर यहां पर इसके कुछ महत्वपूर्ण फैक्टर की उपलब्ध हैं।जिनके जरिए डोमेन अथॉरिटी को बढ़ाया जा सकता है। तो चलिए उनके बारे में हम विस्तारपूर्वक रूप पूरी की पूरी जानकारी समझ लेते हैं।

(1) बैकलिंक्स बनाएं

साथियों आपको यह पता होना चाहिए। कि डोमेन अथॉरिटी का सबसे महत्वपूर्ण और जरूरी फैक्टर लिंक प्रोफाइल को ही माना जाता है।आपको बैकलिंक्स जितनी हाई अथॉरिटी वेबसाइट से प्राप्त हुए हैं।उतना ही आपके डोमेन अथॉरिटी का स्कोर भी होता है। हमने आपको बैकलिंक बनाने के लिए नीचे की ओर कुछ स्टेप बताए गए हैं। आप चाहो तो उन्हें फॉलो कर सकते हो। जैसे –

• बैकलिंक्स को हमेशा ऐसी वेबसाइट से बनाएं जिसकी डोमेन अथॉरिटी पहले से बेहतर हो।

• ध्यान आपक धोखाधड़ी वाली वेबसाइट पर बैक लिंक बनाने से बचना होगा।

• अपनी नीचे के रिलेवेंट वेबसाइट से ही बैकलिंक्स बनानी चाहिए।

• और दोस्तों आपको क्वालिटी बैकलिंक्स पर ध्यान देना है। ना के क्वांटिटी बैकलिंक्स पर।

(2) इंटरलिंकिंग करना

साथ में जब हम अपने किसी पोस्ट के अंदर किसी दूसरी पोस्ट का लिंक प्रोवाइड करते हैं। तो उसे इंटरलिंकिंग कहां जाता है। और इंटरलिंकिंग करने से हमारी वेबसाइट का बाउंस रेट भी कम हो जाता है। और फिर उसे हमारे डोमेन अथॉरिटी के बढ़ने की संभावना अधिक हो जाती है।

(3) हाई क्वालिटी के कंटेंट लिखना

यदि आप लोग पूरी रिसर्च के मुताबिक एक अच्छा आर्टिकल लिखते हो तो आपकी s e r p यानी कि ( search engine result page ) पर टॉप में रैंक करवाने की संभावना भी बढ़ती जाती है। क्योंकि आप सभी लोग यह जानते भी हैं। और गूगल ने भी बताया है। कि content is King. अगर आपका कंटेंट रैंक करता है।तो डोमेन अथॉरिटी भी सुधारने लग जाती है। इसी वजह से आपको अपने ब्लॉग के लिए हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने की जरूरत पड़ती है।

(4) वेबसाइट की स्पीड

ब्यावर के दोस्तों आपकी वेबसाइट की स्पीड भी रैंकिंग में काफी ज्यादा भूमिका निभाती है। यदि आपकी वेबसाइट जल्द से जल्द लोड होती है। तो फिर इससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग एवं डोमेन अथॉरिटी भी सुधर जाती है।

(5) वेबसाइट को रेगुलर अपडेट करना

दोस्तों आपको अपनी वेबसाइट को नियमित रूप से अपडेट करना चाहिए और इसी के साथ ही आप को नियमित रूप से पोस्ट भी अपलोड करते रहना चाहिए। इससे आपकी डोमेन अथॉरिटी सुधरती है। और वेबसाइट की रैंकिंग में काफी ज्यादा वृद्धि होती है।

(6) धैर्य रखना चाहिए।

दोस्तों यहां पर यह बात सबसे ज्यादा मायने रखती है। कि आप को ध्यान रखना चाहिए। मान लो आपने आज वेबसाइट बनाई और वह 2 महीने बाद उसकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ जाए ऐसा नहीं होता है जिस प्रकार आप की वेबसाइट पुरानी होती चली जाएगी। उसी के मुताबिक आपकी वेबसाइट की डोमिनो तो रोटी भी बढ़ती चली जाएगी मगर यह कितने समय में हो पाएगा यह आप की मेहनत पर भी निर्भर होता है। चाहे कोई भी नई वेबसाइट हो गूगल उस पर इतना ज्यादा भरोसा नहीं करता है।और इसी कारण से वह एकदम किसी भी वेबसाइट को रैंक नहीं करता है।इसी वजह से आपको s e r p मैं अच्छा स्थान प्राप्त करने के लिए धैर्य रखने की जरूरत पड़ती है।

वेबसाइट रैंक के लिए डोमिनो डोमेन अथॉरिटी इतनी जरूरी होती है?

दोस्तों यह सवाल काफी ज्यादा इंपॉर्टेंट है। और सभी लोग इसके बारे में जानना ही चाहते हैं। कि किसी भी वेबसाइट को रैंक करवाने के लिए डोमेन अथॉरिटी कितनी होना जरूरी है। लेकिन यह पूरी तरह से उस पर निर्भर होता है।यानी कि आप लोग किस नीचे पर काम कर रहे हैं। उदाहरण के तौर पर यह दिन आप लोग एक ऐसे नीचे पर काम कर रहे हो जिसमें पहले से ही किसी वेबसाइट ने रैंक कर लिया है या फिर कर रही है।और उनकी डोमेन अथॉरिटी ज्यादा है। अपनी वेबसाइट को रेंट करवाने के लिए सबसे पहले तो आपको उनसे अधिक और बेहतर डोमेन अथॉरिटी बनानी होगी।

अगर आप एक ऐसे नीचे पर काम कर रहे हो जिसके अंदर वह वेबसाइट रैंक कर रही हो जिसकी डोमेन अथॉरिटी आप से कम है। तो आप उस नीचे के मुताबिक अपनी वेबसाइट को बड़ी आसन तरीके से रैंक करवा लोगे। तो उस प्रकार साथियों हमारे द्वारा बताए गए सभी स्टेप्स को आप को फॉलो करना होगा।तभी आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ सकती है।

डोमेन अथॉरिटी को चेक कैसे करते हैं?

डोमेन अथॉरिटी को चेक करने के लिए सबसे जबरदस्त एवं बेस्ट मौज वार का क्रोम एक्सटेंशन होता है।जिसे आप बहुत ही आसन तरीके से अपने क्रोम ब्राउजर के अंदर इंस्टॉल कर सकते हो एवं बहुत ही बेहतरीन और सटीक तरीके से डोमेन अथॉरिटी को चेक भी कर सकते हो इसके सिवाय वेबसाइट SEO चेकर नाम का एक एस ई ओ नाम का एक टूल भी होता है। और यहां से भी आप किसी भी वेबसाइट डोमेन अथॉरिटी को चेक कर पाओगे।

अंतिम शब्द

दोस्तों आज के इस आर्टिकल के अंदर हमने आपको बताया है।कि डोमेन अथॉरिटी किया होती है।और आप लोग इसे कैसे बढ़ा सकते हैं। एवं डोमिनो अथॉरिटी से संबंधित और भी कई प्रकार की जानकारी मैंने आपको दे दी है। हमें उम्मीद है उसके बारे में जानकर आपको बहुत अच्छा लगा होगा। यदि आप हमारे द्वारा बताए गए इन सभी स्टेप्स को फॉलो करोगे तो आपके डोमेन अथॉरिटी बढ़ जाएगी और आपकी वेबसाइट भी रैंक करने लग जाएगी।अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो ऐसी आगे तक जरूर शेयर करें